हरदोई। परमाईलाल के खिलाफ चुनाव लड़ की थी राजनीति की शुरुआत, श्यामप्रकाश

--विजय लक्ष्मी सिंह 


..... 1996 में बसपा के टिकट से चुनाव लड़ पहली बार पहुंचे थे विधानसभा 2002 व 2012 में सपा से 2017 में भाजपा के सिंबल पर जीता था चुनाव

हरदोई। कभी सरकार और अविवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले श्याम प्रकाश चार बार विधानसभा पहुंच चुके हैं। सपा, बसपा, भाजपा व कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके श्यामप्रकाश हमेशा ही परमाई लाल व कुबेर जैसी शख्सियत के परिवार के लोगों को चुनाव हरा कर अपने आप को साबित किया है। बेबाक और निर्भीक श्याम प्रकाश पर एक बार फिर से भाजपा ने दांव लगाया है। पासी समाज से आने वाले श्याम प्रकाश ने पहला चुनाव 1989 में पासी समाज के बड़े नेता परमाईलाल के विरुद्ध लड़ा था। 

अहिरोरी विधानसभा क्षेत्र में जनता दल के परमाई लाल बमुश्किल छह हजार से कांग्रेस प्रत्याशी श्याम प्रकाश से चुनाव जीत पाए थे। 1993 में उनके सामने सपा के टिकट पर परमाई लाल की पत्नी थी, इस चुनाव में भी वो जीत नहीं सके। 1996 में बसपा के टिकट पर पहली बार वो अहिरोरी से चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे। 2004 में बसपा के प्रभाष को हरा कर अहिरोरी से सपा के टिकट पर उपचुनाव जीता। 2012 में गोपामऊ विधानसभा से सपा के टिकट पर बसपा प्रत्याशी अनीता वर्मा को चुनाव हरा कर विधान सभा पहुंचे। 2017 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और सपा की राजेश्वरी को हरा कर विधानसभा पहुंचे। एक बार फिर से चुनावी समर में भाजपा के प्रत्याशी के तौर पर अपनी किस्मत आजमाएंगे।

आई एन ए हरदोई डेस्क